Tag Archive | Poem

Mere Piya Gaye Swedoon

हेलो,हिन्दुस्तान का होमटून

हेलो,मैं स्विदून से बोल रहा हूँ

मैं अपनी बीवी रीमादेवी से बात करना

चाहता हूँ

मेरे पिया, हो मेरे पिया गये स्विदून

किया है वहाँ से टेलीफून

तुम्हारी याद सताती है,

जिया में आग लगाती है


हम छोड़ के हिन्दुस्तान,बहुत पछ्ताये

बहुत पछ्ताये

हुई भूल जो तुम को साथ ना लेकर आए

हम स्विदून की गलियों में,

और तुम हो होमटून

तुम्हारी याद सताती है,

जिया में आग लगाती है

मेरी नींद भी खो गयी टाइम डिफरेन्स के मारे

टाइम डिफरेन्स के मारे

मैं अधमुई सी हो गई चिंता के मारे

तुम बिन साजन,

सूनी सूनी बीत रही है जुलाई और जून

तुम्हारी याद सताती है,

जिया में आग लगाती है

अजी तुमसे बिछड़के हो गये हम सन्यासी

हम सन्यासी

खा लेते हैं जो मिल जाए

घास फूस बासी

अजी फीका फीका खा के कर रहे गुज़ारा

भूल गये जीरा मिर्ची लहसून

तुम्हारी याद सताती है,

जिया में आग लगाती है

अजी बड़ा अजीब देश है ये कैसा

ये कैसा

रात के ग्यारह बजे लगता है

दिन जैसा

अजी धूप से है परेशान

शाम लगे फोरनून

तुम्हारी याद सताती है,

जिया में आग लगाती है

मेरे पिया, हो मेरे पिया गये स्विदून

किया है वहाँ से टेलीफून

तुम्हारी याद सताती है,

जिया में आग लगाती है

My version of the famous song. :D D has gone abroad to Sweden and Netherlands for three weeks which has made the poet in me rise from slumber. :mrgreen: The original song – click “Mere Piya Gaye Rangoon” and click here for lyrics and meaning.

एक कविता

जनुअरी में आई प्यारी दीदी,

फेब्रुअरी में हुई मेरी शादी,

मार्च की होली थी एकदम अकेली,

अप्रैल की गर्मी थी बिलकुल थकेली,

मई में गई घूमने किहीम और अलीबाग,

जून भर बनाई चावल दाल मछली और साग,

जुलाई में की खूब कमाई,

अगस्त में एक बार पुणे घूम आई,

सितम्बर कर दिया एकदम कंगाल,

अक्टूबर में बहुत घूमी दुर्गा पंडाल,

नवम्बर में गई घूमने गोवा विथ आल,

दिसम्बर बीता इन दीघा एंड ससुराल,

ये था हिसाब ऑफ़ मेरा बीता हुआ साल,

आप सब का २०११ हो मस्त और खुशहाल

Riddle and Rhyme

Vee had put up a flower’s picture as a riddle in his post and asked the readers to guess its name. I was lucky and shrewd :P enough to guess it and now I have to do the “riddle me this” tag.

But I wasn’t satisfied to put up an image only. I decided to make up a riddle for it. Here goes my riddle and the image. Comments section is open to guesses. The first person who guesses it correctly shall be the winner.

Continue reading

My Random Thoughts – Special Edition

This is a special post. After reading whole of it you will come to know what is special about it. Right now here is my blog “My Random Thoughts” inventory.

# Total views since 22 June 2008 – 26,570

# Busiest day: 565 hits — Friday, September 12, 2008.

# Same as in my earlier blog-inventory, Lallopallo’s blog is my biggest referrer. My blog has diverted maximum traffic to Amit’s blog.

# My All Time Top Ten Posts (except tags and email forwards) -

Continue reading

Candid Camera and Creative Childhood

Nita tagged me in her post to publish a candid and not posed photograph which was taken about 10 years ago. This made me rummage through a lot of albums left untouched since years, to dig out such photographs. So here is a slide show of three such snaps at my different ages. Hope its eligible for the tag. First is the photo taken by my sister when I was explaining to her that there had been pumpkins here and there on our roof during the time she was in hostel. Rest are self explanatory snaps. Just move the mouse on the photo to read the caption.

Continue reading